ABOUT PALMIST

 
 
 
 

श्री. अनिल कुमावत केवल इनके मुकामी शहर नाशिक में ही जानेमाने नही बल्की पुरे भारत अलग अलग हिस्सों में पहचाने जाते है । श्री. अनिल कुमावत व्यावसायिक हस्तरेखा तज्ञ का व्यवसाय करते है, जोकी भारतीय सिद्धांत और भारतीय वास्तूशास्त्र को निष्णात व्यक्तीमत्व है। उनका हस्तरेषा शास्त्र के व्यवसाय सन फरवरी 1998 के पूर्णरूप से कार्यरत है । इनका गौरव अनेक सन्मानित उपलब्धीयो से जैसे की, ‘सामुद्रिक विशारद’, सामुद्रिक प्रबोध, सामुद्रिक शिरोमणी और सामुद्रिक महोपाध्याय जैसी उपलब्धी प्राप्त की है । इसके साथ ही उन्होंने हस्तरेखा तज्ज्ञ का व्यवसाय करते हुए कई पुरस्कार प्राप्त किए है । उन्होंने हस्तरेखाशास्त्र के उपर मराठी भाषा में ‘ भाग्यरेखा, सुलभ हस्तसामुद्रिक, भाग्य दर्पण और हस्तरेखा संश¨धन नाम से हस्तरेखा प्रशिक्षण संस्था का काम देख रहे है । यह संस्था जो दूर शिक्षण देणेवाली एक उत्तम संस्था की ख्याती भारत में प्राप्त की है । कुमावतजी कार्यशाला और भविष्यरेखा वर्ग भी चलाते है । कई संस्थाएँ, क्बल उनको हस्तारेखा इस टॉपीकपर व्याख्यान के लिए आमंत्रित करती है । उन्होंने कई जानेमाने वर्तमानपत्रो में जसै की, महाराश्ट्र टाईम्स, लोकमत, पुण्यनगरी, दैनिक सकाळ, देशदूत, सध्यानंद, आज का अमन और वृत्तज्योत , भाग्यसंकेत, अमृत योग, सप्तरंग, धर्मशास्त्र इनके जैसे मासिक में उन्होंने अपने लेख प्रकाशित किए है ।

इनके ग्राहक जग में अनेक देशो में जैसे की अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लंड, थायलंड, दुबई, जर्मनी व स्पेन आदी देशो में है । अनिल कुमावत येे जानेमाने हस्तरेखा तज्ञ है जो व्यक्ती के अंगभूत कौशल्य और भविष्य में संभवता घटनाओं अचूक अनुमान निकालते है । क्यों की उनका हस्तरेखा शास्त्र में प्राविण्यता प्राप्त की है और उस व्यक्ती का भूतकाल, वर्तमानकाल और भविष्यकाल समझने, उसें सुधार करने के लिए सहाय्यता करते है ।

 

INTENTION

  • नाम : अनिल चुनीलाल कुमावत .
  • पता : 12, गौरव पार्क, एचडीएसी बँक के पिछे, तिबेटीयन मार्किट के सामने, शरणपूररोड लिंकरोड, नाशिक -२
  • मोबाइल नंबर: 9422259672, 9403544953, 8149949275, 9545695119,7743883085.
  • व्यवसाय : बिल्डर
  • आवड :हस्तरेखाशास्त्र, अंकशास्त्र, ज्योतिषशास्त्र व वास्तुशास्त्र इन शास्त्रों का अभ्यास, हस्तरेखा के उपर संशोधनात्मक लिखाई, लिखना- पढना आदी.
  • मनोगत : हस्तरेखा मनुष्य को कर्मद्वारा अपना प्रारब्ध बदल सकते है इसकी प्रेरणा देनेवाला शास्त्र है। जन्म और मृत्यू इन दोन घटनाओं का समय आताही है तो इन दो घटनाओं बीच घटने वाली अनेक घटनो का समय भी होगा । यह समय मनुष्यहाथ के उपर हस्तरेखा के रुप में है। मनुष्य का हाथ जीवन का नक्शा ही होता है। जीवन यात्रों इस नक्शा का उपयोग एक मार्गदर्शक के रुप में होता है। अबतक मैने लिखी हुए किताबो के लेख मनसे पसंद किये इसके लिए धन्यवाद!
  • अनुभव : पिछले कई सालो से हस्तरेखा शास्त्र का शास्त्र शुद्ध व सखोल अभ्यास करके कई व्यक्ती के 100 टक्का सत्य भविष्य, अलग अलग नियतकालिका में लिखाई, कई स्थानो पर दिया हुआ व्याख्यान, अडे हुए व्यक्ती का जीवन सुखी करने के लिए मार्गदर्शन
  • संपर्क :

    ई-मेल :- contact@palmistryresearch.com, info@palmistryresearchcenter.com

    वेबसाइट :- www.palmistryresearch.com, www.palmistryresearchcenter.com

 
 
 

 

हस्तरेखा तज्ञ श्री संदीप इंगळे ये केवळ महाराष्ट्र में ही नहीं लेकिन संपूर्ण भारतभर में हस्तरेखा तज्ञ नाम से प्रसिद्ध हे | करीब सालोंसे श्री संदीप इंगळे इस क्षेत्र में सफलता पूर्वक कार्यरत हे | इसी कार्यकाल में इन्होने हज्ज़रो लोगोंको मार्गदर्शन किया हे और आजभी सफलतापूर्वक कार्यरत हे | हस्तरेखा व्यतिरिक्त इनका कुंडलीशास्त्र और अंकशास्त्र का गधा अभ्यास हे , हस्तरेखा शास्त्र के साथ ही वो in शस्त्रोंका भी उपयोग करते हे | हस्तरेखाशास्त्र का अध्ययन करते समय इन्होने अनेक संस्थाओंकी पदविया प्राप्त की हे जैसे की सामुद्रिक विशारद ,सामुद्रिक प्रबोध , सामुद्रिक वाचस्पति इन जैसी अनेक पदविया देकर सन्मान हुआ हे | विविध संस्था , क्लब इनको हस्तरेखा विषय पर व्याख्यान देने के लिए आमंत्रित करते हे | विविध वृत्तपत्र और मसिकोंमे इनके लेख प्रदर्शित होते रहते है | श्री संदीप इंगळे ये प्रसिद्ध | हस्तरेखा तज्ञ हे जो व्यक्ति के अंगीभूत कौशल्य और भविष्य की सम्भ्याव्य घटनाओंका सही अनुमान करते हे | इसी वजह से व्यक्ति को भूतकाळ , वर्तमानकाल और भविष्यकाल समझने में मदत होती हे |

 

INTENTION

  • नाम :संदीप लक्ष्मण इंगळे
  • पता : 12, गौरव पार्क, एचडीएसी बँकेच्या मागे, तिबेटीयन मार्केट समोर , शरणपूररोड लिंकरोड, नाशिक -5.
  • मोबाईल नं :
  • शिक्षण : सिविल इंजिनियर
  • व्यवसाय : बांधकाम क्षेत्र (बिल्डर)
  • आवड :.हस्तरेखाशास्त्र, अंकशास्त्र, ज्योतिषशास्त्र व वास्तुशास्त्र इन शास्त्रों का अभ्यास, हस्तरेखा के उपर संशोधनात्मक लिखाई, लिखना- पढना आदी.
  • मनोगत : हस्तरेखा मनुष्य को कर्मद्वारा अपना प्रारब्ध बदल सकते है इसकी प्रेरणा देनेवाला शास्त्र है। जन्म और मृत्यू इन दोन घटनाओं का समय आताही है तो इन दो घटनाओं बीच घटने वाली अनेक घटनो का समय भी होगा । यह समय मनुष्यहाथ के उपर हस्तरेखा के रुप में है। मनुष्य का हाथ जीवन का नक्शा ही होता है। जीवन यात्रों इस नक्शा का उपयोग एक मार्गदर्शक के रुप में होता है। अबतक मैने लिखी हुए किताबो के लेख मनसे पसंद किये इसके लिए धन्यवाद!
  • अनुभव : पिछले कई सालो से हस्तरेखा शास्त्र का शास्त्र शुद्ध व सखोल अभ्यास करके कई व्यक्ती के 100 टक्का सत्य भविष्य, अलग अलग नियतकालिका में लिखाई, कई स्थानो पर दिया हुआ व्याख्यान, अडे हुए व्यक्ती का जीवन सुखी करने के लिए मार्गदर्शन
  • संपर्क :

    ई-मेल :- contact@palmistryresearch.com, info@palmistryresearchcenter.com

    वेबसाइट :- www.palmistryresearch.com, www.palmistryresearchcenter.com


Copyright © 2017 palmistryresearch.com. All rights reserved. Design by Ultraliant Pvt Ltd
Ask Question